गुरुवार, दिसंबर 01, 2022

१४ प्रकार के व्यक्ति जो मरे हुए के समान हैं

१४ प्रकार के व्यक्ति जो मरे हुए के समान हैं
गोस्वामी तुलसीदास रचित रामचरितमानस ज्ञान के सागर के समान है। इसमें ज्ञान की ऐसी गूढ़ बातें लिखी है जो हर किसी को पता होनी चाहिए। मानस में ही तुलसीदास जी ने उन १४ प्रकार के व्यक्तियों के बारे में बताया है जो जीवित होते हुए भी मरे हुए के समान हैं।

गुरुवार, नवंबर 24, 2022

क्या वास्तव में हनुमान जी ने सूर्य को निगल लिया था?

क्या वास्तव में हनुमान जी ने सूर्य को निगल लिया था?
हिन्दू जनमानस में ये कथा बड़ी प्रचलित है जब हनुमान जी सूर्यदेव को एक फल समझ कर निगल गए थे। कई लोग इस पर ये प्रश्न भी करते हैं कि ऐसा कैसे संभव है? कोई भला सूर्य को कैसे निगल सकता है? तो आइये आज इस लेख में इसी बारे में जानते हैं।

गुरुवार, नवंबर 17, 2022

जब श्रीहरि ने छल से माता पार्वती से बद्रीनाथ ले लिया

जब श्रीहरि ने छल से माता पार्वती से बद्रीनाथ ले लिया
बद्रीनाथ के धार्मिक महत्त्व के विषय में तो हम सभी जानते हैं। हम ये भी जानते हैं कि बद्रीनाथ भगवान विष्णु का निवास स्थान है। किन्तु बहुत कम लोगों को ये पता होगा कि बद्रीनाथ श्रीहरि से पहले महादेव का निवास स्थान हुआ करता था। इस विषय में एक बहुत ही रोचक कथा हमें पुराणों में मिलती है।

गुरुवार, नवंबर 10, 2022

क्या अहिल्या वास्तव में निर्दोष थी?

क्या अहिल्या वास्तव में निर्दोष थी?
आपमें से कई लोग सोच रहे होंगे कि आज मैं ये कौन सा विषय लेकर आ गया। हम सभी ने हमेशा यही पढ़ा है कि पंचकन्याओं में से एक अहिल्या सर्वथा निर्दोष थी और महर्षि गौतम ने उन्हें बिना सत्य जाने श्राप दे दिया था। बाद में श्रीराम ने उनका उद्धार किया था। बरसों से हम यही सुनते और देखते आ रहे हैं। किन्तु आज हम इस घटना के सत्य को जानने का प्रयत्न करेंगे।

गुरुवार, नवंबर 03, 2022

अग्नि देव

अग्नि देव
हिन्दू धर्म में अग्नि की बड़ी महत्ता बताई गयी है। बिना अग्नि के मनुष्यों का जीवन संभव नहीं और इसीलिए हम अग्नि को देवता की भांति पूजते हैं। इसी अग्नि के अधिष्ठाता अग्निदेव बताये गए हैं जिनकी उत्पत्ति स्वयं परमपिता ब्रह्मा से हुई मानी गयी है। हिन्दू धर्म में पंचमहाभूतों की जो अवधारणा है उनमें से एक अग्नि हैं। अन्य चार पृथ्वी, जल (वरुण), वायु एवं आकाश हैं।

गुरुवार, अक्तूबर 27, 2022

कौन हैं पंजुरली और गुलिगा देव और क्या है भूता कोला?

आज कल "कांतारा" नामक एक फिल्म की बहुत चर्चा है और उससे भी अधिक उत्सुकता उस फिल्म में दिखाए गए देवता "पंजुरली देव" के बारे में जानने में है। पंजुरली देव की उपासना दक्षिण भारत, विशेषकर कर्णाटक और केरल के कुछ हिस्सों में की जाती है। वहां इनकी दंतकथाएं बड़ी प्रचलित हैं किन्तु देश के अन्य हिस्सों में उसके बारे में बहुत ही कम लोग जानते हैं। तो आइये इस विषय में कुछ जानते हैं।

गुरुवार, अक्तूबर 13, 2022

क्या है नौ प्रकार की भक्ति?

क्या है नौ प्रकार की भक्ति?
हिन्दू धर्म में भक्ति को सर्वोत्तम स्थान दिया गया है। भक्त की भक्ति के कारण तो भगवान भी दौड़े चले आते हैं। भक्ति की व्याख्या अलग-अलग ग्रंथों में अलग प्रकार से की गयी है। विभिन्न मत और समुदाय भक्ति को अपने तरीके से परिभाषित करते हैं किन्तु हमारे ग्रंथों में नौ प्रकार की भक्ति को बड़ा महत्त्व दिया गया है जिसे "नवधा भक्ति" कहा जाता है।