सोमवार, दिसंबर 07, 2020

दिव्यास्त्र

हमारे पिछले लेख में आपने साधारण अस्त्र-शस्त्रों के विषय में पढ़ा था। इस लेख में हम प्रमुख दिव्यास्त्रों के विषय में चर्चा करेंगे। दिव्यास्त्र अर्थात दिव्य अस्त्र। ऐसे अस्त्र जो देवताओं द्वारा उपयोग में लाये जाते हों एवं उनसे ही प्राप्त किये जाते हों।

मंगलवार, दिसंबर 01, 2020

प्रसिद्ध अस्त्र एवं शस्त्र

पिछले लेख
में आपने अस्त्र एवं शस्त्र के बीच के मूल अंतर के  बारे में पढ़ा। इस लेख में हम साधारण अस्त्रों एवं शस्त्रों के विषय में पढ़ेंगे। इस लेख में हम किसी दिव्यास्त्र को सम्मलित नहीं करेंगे। हालाँकि हमारे पौराणिक ग्रंथों में अधिकतर अस्त्रों का वर्णन किसी दिव्यास्त्र के सन्दर्भ में ही आता है इसीलिए इस सूची में अधिक अस्त्रों का समावेश नहीं किया गया है और मूलतः शस्त्रों के विषय में ही जानकारी दी गयी है।

गुरुवार, नवंबर 26, 2020

अस्त्र एवं शस्त्र में अंतर

आज से हम अस्त्र-शस्त्रों पर एक श्रृंखला आरम्भ कर रहे हैं। आम तौर पर हम अस्त्र एवं शस्त्र का उपयोग एक ही पर्यायवाची के रूप में करते हैं जैसा कि हमने पहले वाक्य में किया, किन्तु वास्तव में इन दोनों में अंतर होता है। दोनों ही आयुध हैं और दोनों का ही प्रयोग शत्रु को हताहत करने के लिए किया जाता है, किन्तु इनके उपयोग की विधि अलग-अलग है। इससे पहले कि हम विभिन्न प्रकार के अस्त्र एवं शस्त्रों के विषय में जानें, हमें ये ज्ञान होना आवश्यक है कि वास्तव में ये दोनों होते क्या हैं। इस लेख में हम इन दोनों के बीच का मूल अंतर समझेंगे।

गुरुवार, नवंबर 19, 2020

नवगुंजर अवतार

वैसे तो भगवान विष्णु के मुख्य १० (दशावतार) एवं कुल २४ अवतार माने गए हैं किन्तु उनका एक ऐसा अवतार भी है जिसके विषय में बहुत ही कम लोगों को जानकारी है और वो है नवगुंजर अवतार। ऐसा इसलिए है क्यूंकि इस अवतार के विषय में महाभारत या किसी भी पुराण में कोई वर्णन नहीं है। केवल उड़ीसा के लोक कथाओं में श्रीहरि के इस विचित्र अवतार का वर्णन मिलता है। वहाँ नवगुंजर को श्रीकृष्ण का अवतार भी माना जाता है। आइये इस विशिष्ट अवतार के विषय में कुछ जानते हैं।

शुक्रवार, नवंबर 13, 2020

धन्वन्तरि

आप सभी को धनतेरस की हार्दिक शुभकामनायें। ये पर्व देव धन्वन्तरि के सम्मान में मनाया जाता है। इस दिन स्वर्ण खरीदने की प्रथा है और ऐसी मान्यता है कि आज के दिन खरीदे गए स्वर्ण में १३ गुणी वृद्धि हो जाती है। ऐसी मान्यता है कि धनतेरस के दिन ही धन्वन्तरि की उत्पत्ति हुई थी। विष्णु पुराण एवं आयुर्वेद में इनका बड़ा महत्त्व बताया गया है। आइये हम धन्वन्तरि देव के विषय में कुछ जानें: