मंगलवार, जून 16, 2020

आदि शंकराचार्य - ५: प्रमुख कालखंड एवं रचनाएँ

पिछले लेख में आपने आदि शंकराचार्य द्वारा स्थापित चार पीठों के विषय में पढ़ा। इस लेख में हम उनके प्रमुख काल खंड का वर्णन करेंगे और साथ ही उनके द्वारा लिखित रचनाओं के विषय में भी जानेंगे।

आदि शंकराचार्य के जीवन की प्रमुख घटनाएं
  • जन्म: २६३१ युधिष्ठिर संवत, वैशाख शुक्ल पंचमी
  • उपनयन संस्कार: २६३९ युधिष्ठिर संवत, चैत्र शुक्ल नवमी
  • संन्यास ग्रहण: २६३९ युधिष्ठिर संवत, कार्तिक शुक्ल एकादशी
  • गुरु श्री गोविन्द भगवत्पाद से उपदेश: २६४० युधिष्ठिर संवत, फाल्गुन शुक्ल द्वितीय
  • भाष्य रचना: २६४६ युधिष्ठिर संवत, ज्येष्ठ कृष्ण पूर्णिमा तक
  • मंडन मिश्र से शास्त्रार्थ: २६४७ युधिष्ठिर संवत, मार्गशीर्ष कृष्ण द्वितीय
  • मंडन मिश्र की पराजय: २६४८ युधिष्ठिर संवत, चैत्र शुक्ल चतुर्थी (तीन महीने सत्रह दिन तक शास्त्रार्थ चला।)
  • मंडन मिश्र की पत्नी भारती द्वारा काम कला सम्बन्धी प्रश्न: २६४८ युधिष्ठिर संवत, चैत्र शुक्ल षष्ठी
  • परकाया प्रवेश: २६४८ युधिष्ठिर संवत, चैत्र शुक्ल अष्टमी (छह महीने बीस दिन परकाया में रहे।)
  • पुनः अपने शरीर में प्रवेश: २६४८ युधिष्ठिर संवत, कार्तिक शुक्ल त्रयोदशी
  • भारती की पराजय: २६४८ युधिष्ठिर संवत, कार्तिक कृष्ण प्रतिपदा
  • शारदा मठ का निर्माण: २६४८ युधिष्ठिर संवत, कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी
  • श्रृंगेरी मठ का निर्माण: २६४८ युधिष्ठिर संवत, कार्तिक शुक्ल नवमी
  • मंडन मिश्र को सुरेश्वराचार्य की उपाधि: २६४९ युधिष्ठिर संवत, चैत्र शुक्ल नवमी
  • सुरेश्वराचार्य का शारदा पीठ का अधिपति बनना: २६४९ युधिष्ठिर संवत, मार्गशीर्ष शुक्ल सप्तमी
  • तोटकाचार्य का संन्यास: २६५३ युधिष्ठिर संवत, श्रावण शुक्ल सप्तमी
  • हस्तामलकाचार्य का संन्यास: २६५४ युधिष्ठिर संवत, आषाढ शुक्ल एकादशी
  • गोवर्धन मठ का निर्माण एवं पद्मपादाचार्य का अभिषेक: २६५४ युधिष्ठिर संवत, वैशाख शुक्ल दशमी
  • निर्वाण: २६६३ युधिष्ठिर संवत, कार्तिक पूर्णिमा
प्रमुख रचनाएँ

  • अष्टोत्तरसहस्रनामावलिः
  • उपदेशसहस्री
  • चर्पटपंजरिकास्तोत्रम्‌
  • तत्त्वविवेकाख्यम्
  • दत्तात्रेयस्तोत्रम्‌
  • द्वादशपंजरिकास्तोत्रम्‌
  • पंचदशी
    • कूटस्थदीप
    • चित्रदीप
    • तत्त्वविवेक
    • तृप्तिदीप
    • द्वैतविवेक
    • ध्यानदीप
    • नाटक दीप
    • पंचकोशविवेक
    • पंचमहाभूतविवेक
    • पंचकोशविवेक
    • ब्रह्मानन्दे अद्वैतानन्द
    • ब्रह्मानन्दे आत्मानन्द
    • ब्रह्मानन्दे योगानन्द
    • महावाक्यविवेक
    • विद्यानन्द
    • विषयानन्द
  • परापूजास्तोत्रम्‌
  • प्रपंचसार
  • भवान्यष्टकम्‌
  • लघुवाक्यवृत्ती
  • विवेकचूडामणि
  • सर्ववेदान्तसिद्धान्तसारसंग्रह
  • साधनपंचकम
  • भाष्य
    • अध्यात्म पटल भाष्य
    • ईशोपनिषद भाष्य
    • ऐतरोपनिषद भाष्य
    • कठोपनिषद भाष्य
    • केनोपनिषद भाष्य
    • छांदोग्योपनिषद भाष्य
    • तैत्तिरीयोपनिषद भाष्य
    • नृसिंह पूर्वतपन्युपनिषद भाष्य
    • प्रश्नोपनिषद भाष्य
    • बृहदारण्यकोपनिषद भाष्य
    • ब्रह्मसूत्र भाष्य
    • भगवद्गीता भाष्य
    • ललिता त्रिशती भाष्य
    • हस्तामलकीय भाष्य
    • मंडूकोपनिषद कारिका भाष्य
    • मुंडकोपनिषद भाष्य
    • विष्णुसहस्रनाम स्तोत्र भाष्य
    • सनत्‌सुजातीय भाष्य
  • अद्वैत अनुभूति
  • अद्वैत पंचकम्‌
  • अनात्मा श्रीविगर्हण
  • अपरोक्षानुभूति
  • उपदेश पंचकम्‌ किंवा साधन पंचकम्‌
  • एकश्लोकी
  • कौपीनपंचकम्‌
  • जीवनमुक्त आनंदलहरी
  • तत्त्वोपदेश
  • धन्याष्टकम्
  • निर्वाण मंजरी 
  • निर्वाणशतकम्‌
  • पंचीकरणम्‌ 
  • प्रबोध सुधाकर
  • प्रश्नोत्तर रत्‍नमालिका 
  • प्रौढ अनुभूति
  • यति पंचकम्‌ 
  • योग तरावली
  • वाक्यवृत्ति 
  • शतश्लोकी
  • सदाचार अनुसंधानम्‌
  • साधन पंचकम्‌ किंवा उपदेश पंचकम्
  • स्वरूपानुसंधान अष्टकम्‌ 
  • स्वात्म निरूपणम्‌ 
  • स्वात्मप्रकाशिका 
  • गणेश स्तुति
    • गणेश पंचरत्‍नम्‌
    • गणेश भुजांगम्‌
  • शिव स्तुति
    • कालभैरवाष्टक
    • दशश्लोकी स्तुति
    • दक्षिणमूर्ति अष्टकम्‌
    • दक्षिणमूर्ति स्तोत्रम्‌ 
    • दक्षिणमूर्ति वर्णमाला स्तोत्रम्‌
    • मृत्युंजय मानसिक पूजा
    • वेदसार शिव स्तोत्रम्‌ 
    • शिव अपराधक्षमापन स्तोत्रम्
    • शिव आनंदलहरी
    • शिव केशादिपादान्तवर्णन स्तोत्रम्
    • शिव नामावलि अष्टकम्‌ 
    • शिव पंचाक्षर स्तोत्रम्‌ 
    • शिव पंचाक्षरा नक्षत्रमालास्तोत्रम्‌ 
    • शिव पादादिकेशान्तवर्णनस्तोत्रम्
    • शिव भुजांगम्‌
    • शिव मानस पूजा
    • सुवर्णमाला स्तुति
  • शक्ति स्तुति
    • अन्‍नपूर्णा अष्टकम्‌
    • आनंदलहरी
    • कनकधारा स्तोत्रम्‌
    • कल्याण वृष्टिस्तव 
    • गौरी दशकम्‌ 
    • त्रिपुरसुंदरी अष्टकम्‌
    • त्रिपुरसुंदरी मानस पूजा 
    • त्रिपुरसुंदरी वेद पाद स्तोत्रम्‌
    • देवी चतु:षष्ठी उपचार पूजा स्तोत्रम्‌
    • देवी भुजांगम्‌ 
    • नवरत्‍न मालिका 
    • भवानी भुजांगम्‌ 
    • भ्रमरांबा अष्टकम्‌
    • मंत्रमातृका पुष्पमालास्तव 
    • महिषासुरमर्दिनी स्तोत्रम्‌
    • ललिता पंचरत्नम्‌ 
    • शारदा भुजंगप्रयात स्तोत्रम्
    • सौन्दर्यलहरी 
    • नर्मदाष्टक
  • विष्णु एवं उनके अवतारों की स्तुति
    • अच्युताष्टकम्‌
    • कृष्णाष्टकम्‌ 
    • गोविंदाष्टकम्‌
    • जगन्‍नाथाष्टकम्‌
    • पांडुरंगाष्टकम्‌ 
    • भगवन्‌ मानस पूजा 
    • मोहमुद्‌गार (भजगोविंदम्‌
    • राम भुजंगप्रयात स्तोत्रम्‌ 
    • लक्ष्मीनृसिंह करावलंब (करुणरस) स्तोत्रम्‌
    • लक्ष्मीनरसिंह पंचरत्‍नम्‌ 
    • विष्णुपादादिकेशान्त स्तोत्रम्‌ 
    • विष्णु भुजंगप्रयात स्तोत्रम्‌ 
    • षट्‌पदीस्तोत्रम्‌
  • अन्य देवताओं एवं तीर्थों की स्तुति
    • अर्धनारीश्वरस्तोत्रम्‌ 
    • उमा महेश्वर स्तोत्रम्‌ 
    • काशी पंचकम्‌
    • गंगाष्टकम्‌ 
    • गुरु अष्टकम्‌
    • नर्मदाष्टकम्‌ 
    • निर्गुण मानस पूजा 
    • मनकर्णिका अष्टकम्‌
    • यमुनाष्टकम्‌
    • यमुनाष्टकम्‌-२ 
रचनाओं का सन्दर्भ: साभार, विकिपीडिआ

2 टिप्‍पणियां:

कृपया टिपण्णी में कोई स्पैम लिंक ना डालें एवं भाषा की मर्यादा बनाये रखें।