बुधवार, फ़रवरी 12, 2020

वस्तुएं जो भगवान शिव को वर्जित है - १

भगवान शंकर को भोलेनाथ कहते हैं क्यूंकि वे सहज ही प्रसन्न हो जाते हैं। महादेव ही ऐसे हैं जो केवल मन के भाव से ही प्रसन्न हो जाते हैं और उनकी पूजा के लिए किसी विशेष वस्तुओं की आवश्यकता नहीं होती। किन्तु कुछ ऐसी वस्तुएं हैं जो महादेव को नहीं चढ़ाई जाती। वे जितनी जल्दी प्रसन्न होते हैं उतनी ही जल्दी अप्रसन्न भी हो जाते हैं। अतः उनकी पूजा करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि ये वस्तुएं उन्हें अर्पित ना की जाये।

इस लेख को हम कई भागों में विभाजित करेंगे। सबसे पहले इस लेख में हम केवल उन वस्तुओं को समाहित करेंगे जो उन्हें चढ़ाना वर्जित है। इसके आगे के लेखों में हम इस बात का विस्तार से वर्णन करेंगे कि आखिर इन वस्तुओं को महादेव पर चढ़ाना क्यों मना है। तो चलिए उन वस्तुओं के विषय में जानते हैं।
  1. हल्दी
  2. कुमकुम 
  3. केतकी फूल
  4. चंपा फूल 
  5. केवड़े का फूल अथवा इत्र
  6. शंख 
  7. नारियल
  8. तुलसी
  9. तिल 
  10. खंडित चावल
  11. खंडित बेलपत्र
  12. लाल वस्त्र
  13. उबला दूध
  14. लौह पात्र से जल
इन वस्तुओं को ना चढाने का कारण भी है किन्तु इनमे से कुछ वस्तुएं ऐसी हैं जिसके निषेध के पीछे पौराणिक कथा छिपी है। सामान्य निषिद्ध वस्तुओं के पीछे का कारण एक लेख में बताया जाएगा। बांकी महत्वपूर्ण वस्तुओं के निषेध की कथा भी पृथक रूप से बताई जाएगी। हर हर महादेव।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया टिपण्णी में कोई स्पैम लिंक ना डालें एवं भाषा की मर्यादा बनाये रखें।