मंगलवार, फ़रवरी 04, 2020

वर्तमान देशों के पौराणिक नाम

पौराणिक ग्रंथों में हमें कई देशों के वैदिक नाम मिलते हैं। भारत का नाम आर्यावर्त था ये तो विश्व प्रसिद्ध है किन्तु कुछ और भी देश हैं जिनका वर्णन हमारे धार्मिक ग्रंथों में आता है। कुछ ऐसे ही प्रमुख देशों का विवरण इस लेख में दिया जा रहा है। अगर आपको किसी अन्य देश का पौराणिक नाम पता हो तो हमें बताएं।
  • अखंड भारत: आर्यवर्त
    • भारत: शंकुन्तला पुत्र महाराज भरत के नाम पर
    • हिन्दू स्थान: जो बाद में बदलकर हिंदुस्तान हो गया। ये नाम हिन्दू धर्म के कारण पड़ा। पहले जो कोई भी भारत से होता था, चाहे वो हिन्दू, मुस्लिम, सिख या किसी अन्य धर्म का क्यों ना हो, उसे हिन्दू ही कहा जाता था।
  • अफगानिस्तान: उपगणस्थान
    • काबुल: कुंभा
    • कंधार: गांधार (धृतराष्ट्र की पत्नी गांधारी यहीं की थी) 
    • बाल्क: बाल्हीक (भीष्म के चाचा बाह्लीक के नाम पर)
    • वाखान: वोक्काण
    • बगराम: कपिशा
    • बदख्शां: कम्बोज
  • मिस्त्र: कुमृत
  • अरब: अर्व
  • अफ्रीका: मष्णार
  • श्रीलंका: सिंहल
    • लंका: राक्षसराज रावण की नगरी
  • नेपाल: किम्पुरुष
    • मिथिला: सीता के पिता महाराज जनक यहीं के सम्राट थे। 
  • अस्ट्रेलिया: आन्ध्रालय
  • अमेरिका: पाताल (देवासुर संग्राम के बाद दैत्यों ने यहीं आश्रय लिया था।)
  • रशिया: ऋषिदेश
  • तज़ाकिस्तान: हूणदेश। इसके अतिरिक्त इसका एक नाम कम्बोज भी था।
  • जर्मनी: शर्मणी
  • तिब्बत: त्रिविष्टिप
  • मलेशिया: मलयद्वीप
  • म्यांमार: ब्रह्मदेश
  • इंडोनेशिया: वराहद्वीप (ऐसी मान्यता है कि भगवान विष्णु ने यहीं वाराह अवतार लेकर हिरण्याक्ष का वध किया था।)
  • पाकिस्तान: अखंड भारत का हिस्सा
    • पेशावर: पुरुषपुर 
    • स्वात: सुवास्तु
    • चारसद्दा: पुष्कलावती 
    • रावलपिंडी: तक्षशिला 
    • लाहौर: लव नगर (श्रीराम के पुत्र लव के नाम पर)
    • कसूर: कुश नगर (श्रीराम के पुत्र कुश के नाम पर)
  • कंबोडिया: कंबुज 
  • इरान: पारस्य 
  • किर्गिस्तान: मद्र
  • बांग्लादेश: पुण्ड्र 
  • ग्रीस: यवन (कालयवन यहीं का राजा था जो जरासंध के बुलावे पर भारत आया)
  • यूरोप: हरिवर्ष (यहीं पर देवर्षि नारद को श्रीहरि की माया से हरि, अर्थात वानर का मुख प्राप्त हुआ था।)
  • पार्थिया: पहृव 
  • गाजा पट्टी: गजपद 
  • मेक्सिको: मक्षिका 
  • कनाडा: कणाद (ये भारत के महान ऋषि कणाद के नाम पर है)
  • अलास्का: अलकापुरी (यक्षराज कुबेर यहीं शासन करते थे)
  • उरुग्वे: उरुगाव (भगवान विष्णु का एक नाम)
  • ग्वाटेमाल: गौतमालय (महर्षि गौतम का एक आश्रम यहाँ भी था)
  • अर्जेंटीना: अर्जुनस्थान 
  • अंकारा (तुर्की): अंगिरा (ये नाम सप्तर्षियों में से एक महर्षि अंगिरा के नाम पर है)
  • सूडान: माली (ये नाम रावण के नाना माली के नाम पर है)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

कृपया टिपण्णी में कोई स्पैम लिंक ना डालें एवं भाषा की मर्यादा बनाये रखें।